Health News: What Is Encephalitis Disease That Killed Many Kids In Gorakhpur

Encephalitis or brain fever? क्या है इन्सेफेलाइटिस या दिमागी बुखार? ये हैं इसके सिम्प्टम्स और बचाव

हाल ही में गोरखपुर के एक अस्पताल में कथित तौर पर 30 बच्चों की मौत इन्सेफेलाइटिस यानी दिमागी बुखार के कारण होना बताई जा रही है। इस इलाके में काफी अरसे से यह बीमारी फैली हुई है और हर साल सैकड़ों लोगों की मौत होती है जिनमें बड़ी संख्या बच्चों की होती है। आखिर क्या है यह बीमारी और क्या हैं इसके सिम्प्टम्स?

What is Encephalitis or brain fever ? वायरल इन्सेफेलाइटिस

वायरल इन्सेफेलाइटिस को दिमागी बुखार भी कहा जाता है। इसके कारण ब्रेन में सूजन आ जाती है जोकि कई तरह के वायरस के कारण हो सकती है। कई बार बॉडी के खुद के इम्यून सिस्टम के ब्रेन टिश्यूज पर अटैक करने के कारण भी ब्रेन में सूजन आ सकती है। इसके सिम्प्टम्स में हाई फीवर, सिरदर्द, तेज रोशनी से तकलीफ, गर्दन और कमर अकड़ना, उल्टी, सिर घूमना और कई सीरियस मामलों में पैरालिसिस और कोमा जैसी स्थिति भी हो सकती है और मौत भी हो सकती है। बच्चों और बुजुर्गों में इस बीमारी के होने के चांस सबसे ज्यादा होते हैं। इस बीमारी के वायरस मच्छर या किसी कीड़े मकोड़े के काटने के कारण बॉडी में फैल सकते हैं।

जापानी इन्सेफेलाइटिसस (जापानी बुखार)

एशिया के अधिकांश भागों में जापानी इन्सेफेलाइटिस का प्रकोप ज्यादा होता है। भारत के उत्तर पूर्वी भागों में भी इसका ज्यादा प्रकोप देखा जा रहा है। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में पिछले कई सालों से इसके मामले सामने आ रहे हैं और खासतौर पर बच्चों को ये बीमारी ज्यादा हो रही है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन के मुताबिक इस बीमारी का कोई इलाज नहीं है। सिम्प्टम्स के आधार पर ही इसका ट्रीटमेंट किया जाता है। हालांकि इसके बचाव के लिए प्रिवेंटिव वैक्सीन्स उपलब्ध हैं।

Encephalitis or brain fever Symptoms: इन्सेफेलाइटिस के सिम्प्टम्स-

1. पूरी बॉडी में तेज दर्द होता है। कमर और गर्दन में अकड़न होती है।
2. उल्टी और घबराहट होती है। सिर घूमता है। चक्कर आते हैं।
3. तेज बुखार होता है। तेज रोशनी से तकलीफ बढ़ती है।
4. कन्फ्यूजन, याददाश्त में कमी, बोलने और सुनने में परेशानी होती है।
5. बीमारी बढ़ने पर पैरासिसिस हो सकता है मरीज कोमा में जा सकता है।
6. बच्चों में खोपड़ी पर उभार, दूध न पीना, चिड़िचिड़ापन, बुखार, अकड़न जैसे सिम्प्टम हो सकते हैं।

Encephalitis or brain fever: इन्सेफेलाइटिस से कैसे बचें

1. मच्छरों और कीड़े मकोड़ों से बचाव के लिए कीटनाशक का छिड़काव करें। पानी जमा न होने दें।
2. शाम के समय घर से बाहर निकलने से बचें। इस समय मच्छरों और कीड़ों का प्रकोप ज्यादा होता है।
3. पूरी बांह के कपड़े पहनें। बच्चों को भी पूरे कपड़े पहनाकर रखें।सोते समय मच्छरदानी जरूर लगाएं।
4. बच्चों में वायरस के कारण होने वाली इन्सेफेलाइटिस से बचाव के लिए वैक्सीन लगवाएं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *