National: Gujrat Textbook Said Roza Ek Ghaatak Tatha Sankramak Rog Jisme Dast Aur Kaai Ati Hai

रोजा संक्रामक रोग, इसमें दस्त और कै आती है: गुजरात में स्कूल बुक में लिखा

अहमदाबाद. गुजरात स्टेट स्कूल टेक्स्टबुक बोर्ड की चौथी क्लास की हिंदी बुक में ‘रोजा’ को संक्रामक बीमारी (infectious disease) बताया गया है। रोजा रमजान के पवित्र महीने में रखा जाने वाला एक उपवास है। लेकिन बुक में लिखा है, “रोजा एक घातक संक्रामक रोग है जिसमें दस्त और कै आती है।” यह बड़ी गलती महान लेखक प्रेमचंद की कहानी ‘ईदगाह’ के आखिर में दिए गए शब्दकोश में सामने आई है।बुक को वापस लेने की मांग…
– न्यूज एजेंसी के मुताबिक टेक्स्टबुक बोर्ड के चेयरमैन नितिन पेठानी ने इस मसले पर सफाई देते हुए इसको प्रिंटिग में हुई गलती बताया है।
– उधर, एजुकेशन राइट्स एक्टिविस्ट्स ने बुक को वापस लेने की मांग करते हुए कहा कि इससे एक खास कम्युनिटी के लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत होंगी। एक्टिविस्ट्स का कहना है कि वे स्टेट एजुकेशन सेक्रेटरी और GSSTB चेयरमैन से मिलकर बुक को वापस लेने की मांग करेंगे।
– एक्टिविस्ट मुजाहिद नफीस ने कहा, “हमें लगता है कि ये गलती जानबूझकर की गई है ताकि माइनॉरिटी कम्युनिटी के लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत हों। हमने हाल ही में अथॉरिटीज को यह बताया था कि यीशु मसीह के लिए भी अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया गया।”
रोजा की जगह हैजा लिखा जाना था: GSSTB चेयरमैन
– जीएसएसटीबी के चेयरमैन पेठानी ने कहा, “वहां रोजा की जगह हैजा होना था, लेकिन गलती से दोनों शब्द आपस में बदल गए।”
– उन्होंने कहा कि प्रिंटिंग की यह गलती टेक्स्टबुक के मौजूदा एडिशन में हुई है, इसकी 15 हजार कॉपियां छपी होंगी, लेकिन इसके ऑनलाइन वर्जन में ऐसा नहीं हुआ है। यह बुक 2015 से पढ़ाई जा रही है, पर ऐसी गड़बड़ी पहले कभी नहीं देखी गई।
ईसा मसीह को बताया था शैतान
– इससे पहले, बोर्ड की 9वीं क्लास की हिंदी बुक में ईसा मसीह के बारे में अपमानजनक बातें लिखी गई थीं।
– ईसा मसीह के नाम के आगे भगवान शब्द के बजाय हैवान शब्द लिखा था। ईसाई कम्युनिटी के लोगों ने इस पर कड़ा एतराज जताया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *