Rajasthan Farmers bank loan relief by Rajasthan Government

Rajasthan Farmers by Rajasthan Government :राजस्थान के किसानों को मिली बड़ी राहत, लोन चुकाने पर माफ होगा 50

Rajasthan Government,Rajasthan farmers,farmers loan,Loan on Farming,Interest Rate on Farmers Loan,ब्याज माफ

जयपुर। प्रदेश में सरकार ने बड़ी राहत देते हुए अवधिपार ऋण चुकाने वाले किसानों का आधा ब्याज माफ कर दिया है। इस निर्णय के बाद ऋण चुकाने वाले करीब एक लाख किसानों को करीब 150 करोड़ रुपए की राहत मिलेगी। यानि ऋण पर बनने वाले करीब 300 करोड़ रुपए के कुल ब्याज पर आधा ब्याज माफ कर देने से किसानों को ब्याज के रूप में सिर्फ 150 करोड़ रुपए की जमा करवाने होंगे। यह ऋण 31 मार्च तक किसान जमा करवा सकेंगे।

सहकारिता मंत्री अजय सिंह किलक ने बताया कि मुख्यमंत्री ने 15 अगस्त को इस बारे में घोषणा की थी, जिसे साकार रुप देते हुए इस बारे में आदेश जारी कर दिए गए हैं। मंत्री ने बताया कि ऋणी किसानों का दण्डनीय ब्याज एवं वसूली खर्च की राशि भी पूरी तरह से माफ की गई है। इसके साथ ही, ऐसे अवधिपार ऋणी किसान जिनकी मृत्यु हो चुकी है, उनके परिवार को किसान की मृत्यु तिथि से सम्पूर्ण बकाया ब्याज, दण्डनीय ब्याज एवं वसूली खर्च को पूर्णतया माफ कर राहत दी गई है।

मंत्री ने बताया कि राजस्थान के जिन किसानों का ऋण अवधिपार हो चुका है, ऐसे किसानों के लिए ऋण ब्याज को 50 फीसदी माफ किया गया है। यह योजना प्राथमिक सहकारी भूमि विकास बैंकों के सभी प्रकार के कृषि एवं अकृषि ऋणों पर लागू होगी, जो एक जुलाई, 2017 को अवधिपार हो चुके हैं। मुख्यमंत्री ने सहकारी भूमि विकास बैंकों के अवधिपार ऋणियों का 50 प्रतिशत तक ब्याज माफ करने की घोषणा की थी।

Rajasthan Farmers bank loan relief by Rajasthan Government:किसानों से किया आहृवान

एसएलडीबी के प्रबंध निदेशक विजय शर्मा ने बताया कि इस योजना का फायदा 36 प्राथमिक भूमि विकास बैंकों एवं उनकी 133 शाखाओं के माध्यम से ऋण लेने वाले किसानो को मिलेागा। उन्होंने बताया कि 1 अप्रेल, 2014 के बाद वितरित किए गए दीर्घकालीन कृषि ऋणों के अवधिपार ऋणियों को योजना में शामिल नहीं किया गया है क्योंकि उन्हें ऋणों का समय पर चुकारा करने पर 5 प्रतिशत ब्याज अनुदान मिल रहा है। सहकारिता विभाग ने प्रदेश के किसानों से आह्वान किया है कि वे योजना की तय अवधि में ऋण जमा कराकर छूट का फायदा उठाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *