Raksha Bandhan 2017:Raksha Bandhan 2017: Wishes, WhatsApp Messages

Raksha Bandhan Shubh Muhurat 2017:रक्षाबंधन पर चंद्रग्रहण व भद्रा का भी साया

Raksha Bandhan, Rakhi, Raksha Bandhan 2017, Rakshabandan India, Rakhi 2017, Raksha Bandhan in India, Indian Raksha Bandhan, Rakhi India ,आज का हिन्दू पंचांग,Raksha Bandhan Whatsapp message,Raksha Bandhan Whatsapp Images,Raksha Bandhan Whatsapp Poems 

सोमवार को पूरे देश में रक्षाबंधन का पर्व पूरे धूमधाम से मनाया जा रहा है। भाइयों की कलाइयों पर रक्षा सूत्र बांधने के लिए बहनें भाइयों के घर पहुंच गई हैं। कुछ भाई भी रक्षा सूत्र बंधवाने के लिए बहनों के घर गए हैं। इस बार रक्षाबंधन पर चंद्रग्रहण व भद्रा का भी साया है। इस कारण रक्षाबंधन के लिए 2 घंटे 47 मिनट तक का समय मिलेगा। सोमवार को ग्रहण रात 10.33 बजे से शुरू होकर रात 12.48 बजे तक होगा। सूतक दोपहर 1.53 बजे से शुरू होगा। सूर्योदय से सुबह 11.05 बजे तक भद्रा रहेगी। राखी बांधने का वक्त सुबह 11.05 बजे से दोपहर 1.53 बजे तक रहेगा सूतक काल में बांध सकते हैं राखी
रक्षाबंधन के दिन सुबह 11.05 बजे तक भद्राकाल रहेगा। वहीं, रात्रि 10.53 बजे से खंडग्रास चंद्रग्रहण शुरू हो जाएगा। जबकि ग्रहण का सूतक दोपहर 1.53 मिनट से शुरू हो जाएगा। इसके चलते भगवान व भाइयों को रक्षासूत्र बांधने का सर्वश्रेष्ठ समय सुबह 11.05 बजे से दोपहर 1.53 बजे तक रहेगा। हालांकि, निर्णय सिंधु धर्मग्रंथ के अनुसार सूतक काल में भी बहने भाइयों को राखी बांध सकती हैं। लेकिन, भगवान को रक्षासूत्र अर्पित करना, श्रवण का पूजन व भाइयों को राखी बांधकर मिठाई नहीं खिलाई जा सकती। केवल राखी बांधने का कर्म किया जा सकता है।

Raksha Bandhan 2017:चूडामणि चंद्रग्रहण रात्रि 10.53 बजे से 12.48 बजे तक

इस बार खंडग्रास चंद्रग्रहण सोमवार को होने के कारण चूडामणि चंद्रग्रहण कहलाएगा। यह ग्रहण दान-जप के लिए महत्वपूर्ण माना गया है। ग्रहण रात्रि 10.53 बजे से शुरू होगा, जो कि रात्रि 12.48 बजे संपन्न होगा। ग्रहण सबसे ज्यादा रात्रि 11.51 बजे करीब 25 फीसदी तक दिखाई देगा। ग्रहण के समय चंद्रमा मकर राशि में रहेगा। इसलिए मकर राशि के जातकों को ग्रहण का दर्शन नहीं करना चाहिए।

Raksha Bandhan 2017:इन राशि वालों को श्रेष्ठ फल देगा चंद्रग्रहण

यह ग्रहण मेष, सिंह, वृश्चिक, मीन राशि को श्रेष्ठ फल प्रदान करने वाला रहेगा। जबकि वृषभ, मिथुन, कर्क, कन्या, तुला, धनु, कुभ के जातकों के लिए मिश्रित फलदायक रहेगा। वहीं, मकर राशि जातकों को विशेष सावधानी रखनी होगी। खंडग्रास चंद्रग्रहण पूरे देश में करीब 2 घंटे तक दिखाई देगा। भारत के साथ संपूर्ण एशिया, आस्ट्रेलिया, यूरोप, अफ्रीका, दक्षिणी अमरीका के पश्चिमी भाग और हिंद महासागर, पेसिफिक महासागर में दिखाई देगा।

🌞 Raksha Bandhan 2017~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🌞

⛅ *आज का दिनांक 07 अगस्त 2017*
⛅ *दिन – सोमवार*
⛅ *विक्रम संवत – 2074*
⛅ *शक संवत -1939*
⛅ *अयन – दक्षिणायण*
⛅ *ऋतु – वर्षा*
⛅ *मास – श्रावण*
⛅ *पक्ष – शुक्ल*
⛅ *तिथि – रात्रि 11:40 तक पूर्णिमा – रात्रि 11:41 से प्रतिपदा*
⛅ *नक्षत्र – श्रवण*
⛅ *योग – आयुष्मान्*
⛅ *राहुकाल – सुबह 07:29 से सुबह 09:08 तक*
⛅ *सूर्योदय – 06:15*
⛅ *सूर्यास्त – 19:12*
⛅ *दिशाशूल – पूर्व दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व  विवरण –
💥 *विशेष – पूर्णिमा के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)*
           🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞
🌷 *रक्षाबंधनः संकल्पशक्ति का प्रतीक* 🌷
🙏🏻 *रक्षाबंधन के दिन बहन भैया के ललाट पर तिलक-अक्षत लगाकर संकल्प करती है कि ‘मेरा भाई भगवत्प्रेमी बने। जैसे शिवजी त्रिलोचन हैं, ज्ञानस्वरूप हैं, वैसे ही मेरे भाई में भी विवेक-वैराग्य बढ़े, मोक्ष का ज्ञान, मोक्षमय प्रेमस्वरूप ईश्वर का प्रकाश आये। मेरा भाई धीर-गम्भीर हो। मेरे भैया की सूझबूझ, यश, कीर्ति और ओज-तेज अक्षुण्ण रहें।’ भाई सोचें कि ‘हमारी बहन भी चरित्रप्रेमी, भगवत्प्रेमी बने।’*
🙏🏻 *इस पर्व पर धारण किया हुआ रक्षासूत्र सम्पूर्ण रोगों तथा अशुभ कार्यों का विनाशक है। इसे वर्ष में एक बार धारण करने से वर्ष भर मनुष्य रक्षित हो जाता है। (भविष्य पुराण)*
🙏🏻 *रक्षाबंधन के पर्व पर बहन भाई को आयु, आरोग्य और पुष्टि की बुद्धि की भावना से राखी बाँधती है। अपना उद्देश्य ऊँचा बनाने का संकल्प लेकर ब्राह्मण लोग जनेऊ बदलते हैं।*
🙏🏻 *समुद्र का तूफानी स्वभाव श्रावणी पूनम के बाद शांत होने लगता है। इससे जो समुद्री व्यापार करते हैं, वे नारियल फोड़ते हैं।*
🙏🏻 *क्या करें क्या न करें पुस्तक से*
             🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞
🌷 *ग्रहण के समय निर्देश* 🌷
➡ *07 अगस्त 2017 सोमवार को भूभाग में ग्रहण का समय रात्रि 10:52 से 12:49 तक खंडग्रास चन्द्रग्रहण हैं (पूरे भारत में दिखेगा ।नियम पालनीय हैं)*
🙏🏻 *चंद्रग्रहण के समय किया हुआ जप लाख गुना फलदायी होता है और सूर्यग्रहण के समय किया हुआ जप १० लाख गुना फलदायी होता है l*
🌷 *करने योग्य*
👉🏻 *1. ग्रहण के समय भगवान का चिंतन, जप, ध्यान करने पर उसका लाख गुना फल मिलता है , ग्रहण के समय हज़ार काम छोड़ कर मौन और जप करिए l*
👉🏻 *2. ग्रहण लगने के पहले खान – पान ऐसा करिए कि आपको बाथरूम में ना जाना पड़े l*
🌷 *ना करने योग्य*
➡ *1. ग्रहण के समय सोने से रोग बड़ते हैं l*
➡ *2. ग्रहण के समय सम्भोग करने से सुअर की योनि मिलती है l*
➡ *3. ग्रहण के समय मूत्र त्याग नहीं करना चाहिए, दरिद्रता आती है l*
➡ *4. ग्रहण के समय धोखाधड़ी और ठगाई करने से सर्पयोनी मिलती है l*
➡ *5. ग्रहण के समय शौच नहीं जाना चाहिए, वर्ना पेट में कृमि होने लगते हैं l*
➡ *6. ग्रहण के समय जीव-जंतु या किसी की हत्या हो जाय तो नारकीय योनि में जाना पड़ता है l*
➡ *7. ग्रहण के समय भोजन व मालिश करने वाले को कुष्ट रोग हो जाता है l*
➡ *8. ग्रहण के समय पत्ते, तिनके, लकड़ी, फूल आदि नहीं तोड़ने चाहिए l*
➡ *9. स्कन्द पुराण के अनुसार ग्रहण के समय दूसरे का अन्न खाने से १२ साल का किया हुआ जप, तप, दान स्वाहा हो जाता है l*
➡ *10. ग्रहण के समय अपने घर की चीज़ों में कुश, तुलसी के पत्ते अथवा तिल डाल देने चाहिए l*
➡ *11. ग्रहण के समय रुद्राक्ष की माला धारण करने से पाप नाश हो जाते हैं l*
➡ *12. ग्रहण के समय दीक्षा अथवा दीक्षा लिए हुए मंत्र का जप करने से सिद्धि हो जाती है l*
🙏🏻🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞
🙏🍀🌷🌻🌺🌸🌹🍁🙏

Raksha Bandhan Whatsapp message,Raksha Bandhan Whatsapp Images,Raksha Bandhan Whatsapp Poems

*#बहन_से_कलाई_पर_राखी_तो_बँधवा_ली,*
*#500_रू_देकर_रक्षा_का_वचन_भी_दे_डाला!*
*#राखी_गुजरी_और_धागा_भी_टूट_गया,*
*#इसी_के_साथ_बहन_का_मतलब_भी_पीछे_छूट_गया!*
*#फिर_वही_चौराहों_पर_महफिल_सजने_लगी,*
*#लड़की_दिखते_ही_सीटी_फिर_बजने_लगी!*
*#रक्षा_बंधन_पर_आपकी_बहन_को_दिया_हुआ_वचन,*
*#आज_सीटियों_की_आवाज_में_तब्दील_हो_गया !*
*#रक्षाबंधन_का_ये_पावन_त्यौहार,*
*#भरे_बाजार_में_आज_जलील_हो_गया !!*
*#पर_जवानी_के_इस_आलम_में,*
*#एक_बात_तुझे_ना_याद_रही!*
*#वो_भी_तो_किसी_की_बहन_होगी*
*#जिस_पर_छीटाकशी_तूने_करी !!*
*#बहन_तेरी_भी_है_चौराहे_पर_भी_जाती_है,*
 *#सीटी_की_आवाज_उसके_कानों_में_भी_आती_है!*
*#क्या_वो_सीटी_तुझसे_सहन_होगी,*
*#जिसकी_मंजिल_तेरी_अपनी_ही_बहन_होगी?*
*#अगर_जवाब_तेरा_हाँ_है_तो_सुन,*
*#चौराहे_पर_तुझे_बुलावा_है!*
*#फिर_कैसी_राखी_कैसा_प्यार*
*#सब_कुछ_बस_एक_छलावा_है!!*
*#बन्द_करो_ये_नाटक_राखी_का,*
*#जब_सोच_ही_तुम्हारी_खोटी_है!*
*#हर_लड़की_को_इज़्ज़त_दो ,*
*#यही_रक्षाबंधन_की_कसौटी_है*

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *