Sikar News: Wheat A Scam In Sikar Village

सीकर: यहां तो राशन डीलर गेहूं में भी कर रहे है इतना बड़ा घोटाला, खबर पढ़कर आपको भी नहीं होगा यकीन; Even ration dealers are doing wheat in the big scam, you will not even be able to read the news.

In Ratanpura ration dealer Prakash Goyal has been accused in the security of food security and not forfeited the ration of BPL families.

नाथूसर ग्राम पंचायत नाथूसर के ग्राम रतनपुरा के ग्रामीणों ने सोमवार सुबह राशन डीलर पर राशन के गेहूं गबन का आरोप लगा विरोध प्रदर्शन किया। ग्रामीणों की शिकायत पर प्रवर्तन निरीक्षक श्रीमाधोपुर पूजा शर्मा मौके पर रतनपुरा आई व ग्रामीणों की शिकायत जानकर स्टॉक व वितरण रजिस्टर की जांच की। ग्रामीणों के अनुसार रतनपुरा में राशन डीलर प्रकाश गोयल खाद्य सुरक्षा में चयनित व बीपीएल परिवारों को राशन सामग्री नहीं देकर फर्जीवाड़ा करने का आरोप लगाया है। पात्र लोगों को राशन सामग्री नहीं मिलने पर सोमवार सुबह करीब ढाई सौे लोग रतनपुरा गांव में मंदिर के पास में एकत्रित होकर डीलर के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर फर्जीवाड़े की जांच कराने की मांग की। मौके पर उपस्थित प्रवर्तन निरीक्षक पूजा शर्मा को ग्रामीण बनवारी लाल ने बताया कि उसे जून 2015 के बाद राशन सामग्री नहीं मिली उसके राशनकाडऱ् में भी ईन्द्राज नहीं है जबकि मशीन के अनुसार उसका मार्च 2017 तक लगातार वितरण का ट्रांजेक्शन है। वेद प्रकाश ने बताया कि उसका नाम खाद्य सूची में चयनित परिवारों में है उसके बाद भी उसे राशन नहीं मिलता है।

सूची में नाम होने के बाद भी डीलर उनको सामग्री नहीं देता है। पंचायत प्रतिनिधि बंशीधर देगडा ,झंूथाराम ,जाट युवा महासभा के तहसील अध्यक्ष अंकित सामोता सुरेन्द्र सहित अन्य लोगों ने प्रवर्तन निरीक्षक को पूरी जानकारी दी। प्रवर्तन निरीक्षक पूजा शर्मा ने बताया कि ग्रामीणों के कई ऐसे राशनकार्ड सामने आए जिनमें राशन वितरण का पिछला ईन्द्राज अंकित नहीं था और उनका राशन ऑनलाइन रिकॉर्ड के अनुसार ट्रांजेक्शन हुआ है। उचित मूल्य दुकान के मालिक को दुकान पर बुलाकर पोस मशीन से स्टॉक जांच किया। जांच में रिकॉर्ड के अनुसार स्टॉक में 28 किलो चीनी व 25.86 किग्रा गेहूं था जो भौतिक सत्यापन में स्टॉक में सही पाए गए। इधर, डीलर प्रकाश गोयल का कहना है कि है कि पोस मशीन से राशन सामग्री का वितरण करते है पोस मशीन में अंगूठा लगाकर पात्र परिवार के सदस्य राशन लेते है । गबन का आरोप गलत है। राशनकार्ड में ईन्द्राज नहीं होना मानवीय भूल हो सकती है । सोमवार को भी डीलर की दुकान पर वितरण का कार्य जारी था। पंचायत प्रतिनिधि बंशीधर ने बताया कि दोपहर में ग्रामीण डीएसओ से मिल कर मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *